Santulit Aahar Kise Kahate Hain

Santulit Aahar Kise Kahate Hain-संतुलित आहार किसे कहते है?

Santulit Aahar Kise Kahate Hain:हेलो स्टूडेंट्स, आज हमने यहां पर संतुलित आहार की परिभाषा, प्रकार और उदाहरण के बारे में विस्तार से बताया हैSantulit Aahar Kise Kahate Hain । यह हर कक्षा की परीक्षा में पूछा जाने वाले यह एक महत्वपूर्ण प्रश्न है।

Santulit Aahar Kise Kahate Hain

संतुलित आहार एक ऐसा आहार है जिसमें कुछ निश्चित मात्रा और अनुपात में विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थ होते हैं ताकि कैलोरी, प्रोटीन, खनिज, विटामिन और वैकल्पिक पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में हो और पोषक तत्वों के लिए एक छोटा सा भाग आरक्षित रहे। इसके अलावा, संतुलित आहार में बायोएक्टिव फाइटोकेमिकल्स  जैसे आहार वाले फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और न्यूट्रास्यूटिकल होना चाहिए जिनके सकारात्मक स्वास्थ्य लाभ हों। संतुलित आहार में कार्बोहाइड्रेट से कुल कैलोरी का 60-70%, प्रोटीन से 10-12% और वसा से कुल कैलोरी का 20-25% होना चाहिए।

इसे भी पढ़े:पोषण किसे कहते हैं?

एक संतुलित आहार से स्वास्थ्य लाभ

  • स्वस्थ भोजन ऊर्जा बढ़ाता है, आपके शरीर के कार्यों के तरीके में सुधार करता है, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और वजन बढ़ने से रोकता है। अन्य भी प्रमुख लाभ हैं।
  • संतुलित आहार आपकी पोषण संबंधी आवश्यकता को पूरा करता है। एक विविध, संतुलित आहार पोषक तत्वों की कमी से बचने के लिए आपको आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है।
  • कुछ बीमारियों को रोकता और उनका उपचार करता है। स्वस्थ भोजन से मधुमेह, कैंसर और हृदय रोग जैसी कुछ बीमारियों के विकास को रोका जा सकता है। यह मधुमेह और उच्च रक्तचाप के इलाज में भी सहायक है।
  • एक विशेष आहार का पालन करने से लक्षणों को कम किया जा सकता है, और बीमारी या स्थिति को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने में मदद कर सकता है।
  • ऊर्जावान महसूस करें और अपने वजन का प्रबंधन करें। एक स्वस्थ आहार आपको अच्छा महसूस करने में मदद करेगा, आपको अधिक ऊर्जा प्रदान करेगा, और तनाव से लड़ने में मदद करेगा।
  • भोजन कई सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यों का मुख्य आधार है। पोषण गुणों के अलावा, यह व्यक्तियों के बीच संबंधों को सुविधाजनक बनाने में मदद करता है।

संतुलित आहार के तत्व

सभी जरूरी तत्व सही मात्रा और अनुपात मे संतुलित भोजन मे मौजूद होता हे। जिससे हमारी शरीर का सम्पूर्ण विकाश होता हे। संतुलित आहार किसे कहते हैं  यह जानने केलिए उसमे मौजूद तत्व का ज्ञान होना बहुत जरूरी है।

संतुलित आहार के 7 मुख्य पोषक तत्व नीचे दर्शाये गए हैं। 

  • कार्बोहाइड्रट (Carbohydrate)
  • विटामिन (Vitamin)
  • खनिज पदार्थ (Minerals)
  • वसा (Fat)
  • प्रोटीन (Protein)
  • फ़ाइबर (Fibre)
  • जल (Water)

कार्बोहाइड्रेट

रोजाना शारीरिक एवम् मानसिक काम करने के लिए शरीर को ऊर्जा की जरूरत होता हे। यह ऊर्जा मुख्य रूपसे हमारी शरीर को कार्बोहाइड्रट से प्राप्त होती हे। एक सामान्य मनुष्य के रोजाना की खाद्य पदार्थ मे 60 प्रतिशत कार्बोहाइड्रट होनी चाहिए।चावल, गेहूं, आलू, केला, मक्का, जई इत्यादि मे कार्बोहाइड्रट प्रचुर मात्रा मे होता हे।

विटामिन 

विटामिन एक जैविक मिश्रण हे जो प्राकृतिक खाद्य पदार्थ मे होती हे। मनुष्य को बिभिन्न रोगों से लड़ने केलीये यह सहायक हे।विटामिन शरीर के सारे अंग को स्वस्थ और निरोग रखता हे।

विटामिन कई तरीके की होते हैं। कुछ vitamin  ईश प्रकार के हे । विटामिन-A, विटामिन–B, विटामिन-C और विटामिन–D, विटामिन-E, विटामिन –K, विटामिन – Bकॉम्प्लेक्स इत्यादि।

विटामिन अलग अलग खाद्य पदार्थ मे कम मात्रा होता हे।मुख्य रूपसे हरी सब्जियां, फल, दूध, मक्खन, माँस, मछली इत्यादि विटामिन के अछे स्रोत हे।

विटामिन की कमी से कई प्रकार के रोग हो सकता हे। इसलिए संतुलित आहार मे विटामिन युक्त खाद्य का सेवन करना बहुत जरूरी हे।

विटामिन की पूर्ति केलिए आजकल multivitamin टैबलेट लेना आम बात हो गई हे।पर विटामिन को प्राकृतिक खाद्य यानि हरी सब्जी, फल आदि से लेना बेहतर होता हे। 

मिनेरल्स

खाद्य मे मिलने वाला मिनेरल्स अजैविक पदार्थ होता हे जो मनुष्य शरीर की विकाश और अछे स्वास्थ्य केलिए बहुत जरूरी होता हे। खाद्य पदार्थों से ऊर्जा निकालने मे यह सहायक होता हे। भले ही शरीर को मिनेरल्स कम मात्रा मे आवश्यक हे, पर इसकी कमी से कई रोग हो शकते हे।

मिनेरल्स के कुछ उदाहरण हें – Iron, iodine, calcium, phosphorous, sodium, potassium, magnesium इत्यादि। प्रत्येक मिनेरल एक मनुष्य केलिए विशेष मात्रा मे आवश्यक होता हे।

कुछ मिनेरल्स के मुख्य स्रोत :-

Iron : पालक, हरी पत्ते वाली सवजियाँ, माँस, अंडा, dried fruits इत्यादि

Calcium : दूध, अंडा, बादाम, पपीता, गाजर इत्यादि

Iodine : iodine युक्त नमक, समुद्री मछली, केंकड़े,

Potasium : अनानास, एप्पल, संतरा, पपीता, केला, नींबू, टमाटर, खीरा इत्यादि

वसा

Balanced diet की एक मुख्य तत्व वसा (फैट) हैं। वसा कार्बोहाइड्रट की तुलना मे ज्यादा ऊर्जा प्रदान करती हे। मनुष्य शरीर को विटामिन अवशोषित करने मे भी वसा मदत करता हे। शरीर तापमान को भी वसा नियंत्रित रखता हे।

यह मुख्यतः दो प्रकार के है। सैचुरेटेड फैट (संतृप्त वसा) और अनसैचुरेटेड फैट (असंतृप्त वसा)। मनुष्य शरीर तथा खास करके हृदय केलिए अनसैचुरेटेड फैट बेहतर होता हे।

माँस, मछली, दूध और इसके प्रोडक्ट, बादाम, मुफली इत्यादि से हमे अच्छा वसा यानि फैट मिलता हे।

प्रोटीन

यह एमिनो एसिड से बना एक जटिल पदार्थ हे। शरीर की निर्माण मे प्रोटीन सबसे महत्वपूर्ण हे। इसीलिए प्रोटीन को शरीर निर्माण खाद्य ( body  building food ) भी कहा जाता हे।

प्रोटीन शरीर मे नई कोशिका निर्माण करता हे तथा पुरानी कोशिकायों की मरमत करता हे। मुख्यतः मनुष्य शरीर की स्किन, हेयर, मसल्स, हड्डी की बिकाश मे प्रोटीन की भूमिका महत्वपूर्ण हे। इसलिए प्रोटीन की आवश्यकता सबसे ज्यादा छोटे बचों और गर्भवती महिला को होती हे।

माँस , मच्छलि , यंदा , दूध , बादाम , पनीर , सोयाबीन , मटर , दाल इत्यादि खाद्य प्रोटीन के स्रोत हे ।

फ़ाइबर

यह एक प्रकार का कार्बोहाइड्रट हे जिसको मनुष्य शरीर हजम नहीं कर पाता। मगर यह शरीर की पाचन प्रक्रिया केलिए सहायक हे। रोजाना फ़ाइबर युक्त आहार लेने से पाचन तंत्र फिट रेहता हे तथा खाने केलिए भूक बनी रेहती हे। यह मनुष्य शरीर की ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता हे।

मुख्यतः प्लांट प्रोडक्ट फ़ाइबर के स्रोत हे। जैसे की साबुत अनाज, दाल, आलू, ताजे फल और सब्जियां, बादाम इत्यादि।

संतुलित आहार मे जल की भूमिका 

एक संतुलित आहार जल के बिना पूरी नहीं हो सक्ति। जल जीवन होती हे। जल बाकी सारे nutrients अथवा तत्वों को खाद्य पदार्थ से अवशोषित करने मे मदद करता हे। जल की सहायता से  मनुष्य  शरीर से बेकार वस्तु मूत्र और पसीना के जरिए निस्कासित हो जाते हे।

रोजाना एक ऐडल्ट को कम से कम 8 से 10 ग्लास पानी पीना चाहिए।

इसे भी पढ़े:ऊतक किसे कहते है?

credit:Biology ScienceSK

इस आर्टिकल में अपने पढ़ा कि, संतुलित आहार  किसे कहते हैं, हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.