Vyas Kise Kahate Hain

Vyas Kise Kahate Hain

Vyas Kise Kahate Hain:हेलो स्टूडेंट्स, आज हमने यहां पर व्यास की परिभाषा, प्रकार और उदाहरण के बारे में विस्तार से बताया है।Vyas Kise Kahate Hain यह हर कक्षा की परीक्षा में पूछा जाने वाले यह एक महत्वपूर्ण प्रश्न है।

इस पेज पर आप व्यास की समस्त जानकारी पढ़ने वाले हैं तो पोस्ट को पूरा जरूर पढ़िए।

Vyas Kise Kahate Hain

व्यास (Ø) वह रेखा है जो एक वृत्त के केंद्र को अपनी परिधि के दो बिंदुओं को जोड़कर पार करती है और एक परिधि की चौड़ाई को परिभाषित करती है।

व्यास शब्द में ग्रीक जड़ें हैं और यह उपसर्ग व्यास से बना है जिसका अर्थ मेट्रोन शब्द होता है और जो माप को दर्शाता है।

ज्यामिति में, एक वृत्त के व्यास की गणना निम्न सूत्र का उपयोग करके की जाती है।

व्यास का सूत्र

वृत्त का व्यास = 2 × त्रिज्या

d = 2 r

वृत्त का व्यास (D) = √ (A / 0.7854)।

वृत्त का व्यास (D) = 2rवृत्त की परिधि = πr²

इसका मतलब यह है कि – एक वृत्त का व्यास उसकी त्रिज्या के दोगुने के बराबर है। एक वृत्त की त्रिज्या वह रेखा है जो केंद्र को अपनी परिधि के एक बिंदु से जोड़ती है।

हम किसी भी वृत्त के व्यास की गणना कर सकते हैं।

जैसे:-

इसे भी पढ़े:Bandargah Kise Kahate Hain – बंदरगाह किसे कहते हैं?

  • पृथ्वी का व्यास 12,742 किलोमीटर।
  • चंद्रमा का व्यास 3,474 किलोमीटर।
  • सूर्य का व्यास 1.3914 किलोमीटर।

वृत्त के व्यास से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

  • वृत्त की सबसे बड़ी जीवा को व्यास कहते हैं।
  • वृत्त का व्यास वृत्त की त्रिज्या से हमेशा 2 गुना होता है। अर्थात d = 2r
  • किसी भी वृत्त के अंदर अनन्त त्रिज्याएँ खींची जा सकती हैं।
  • आप वृत्त के अंदर जितने बिंदु लगा सकते हैं उतनी त्रिज्याएँ खिची जा सकती है।
  • किसी भी वृत्त में खींचा गया व्यास उस वृत्त को दो बराबर भागों में बाँटताVyas Kise Kahate Hain है और प्रत्येक भाग को हम अर्द्धवृत्त कहते हैं।
  • वृत के अंदर बहुत सी जीवाएं खीचीं जा सकती हैं जिनमें से सबसे बड़ी जीवा वृत्त की व्यास होती है।
  • वृत्त के केंद्र से वृत्त की जीवा पर डाला गया लम्ब वृत्त की जीवा को दो बराबर भागों में विभाजित करता है।
  • एक वृत्त की समान जीवाएं अर्थात सामान लम्बाई की जीवायें वृत्त के केंद्र से समान दूरी पर होती Vyas Kise Kahate Hainहैं।
  • वृत्त के केंद्र के सबसे समीप वाली जीवा सबसे बड़ी होती है।
  • वृत्त की दो असमान जीवाओं में सबसे लम्बी जीवा केंद्र के अधिक पास होती है।
  • वृत्त के अंदर की समान जीवाएँ वृत्त के केंद्र पर बराबर कोण का निर्माण करती हैं।
  • सामान कोण बनाने वाली जीवाओं की लम्बाई भी सामान होती हैं।

आर्टिकल में अपने पढ़ा कि व्यास किसे कहते हैं, हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.